पुलिस ने 8 लाख की लूट व ठेकेदार की हत्या के आरोपियों को किया गिरफ्तार

0
132

– बड़े गिरोह का सरगना बनना चाहता था गिरोह का मास्टरमाइंड विक्रम

रिपोर्ट : संदीप मलिक

कैथल : 14 फरवरी की रात अज्ञात आरोपियों द्वारा शराब ठेकेदार की कैश वैन चालक की अवैध पिस्टल से गोली मारकर हत्या करके गाडी से  लाख रुपये नकदी लूटकर फरार होने के मामले मामले को सीआईए-टू पुलिस द्वारा सुलझा लिया गया, तथा पुलिस द्वारा 18 फरवरी को जिला जींद क्षेत्र में 2 स्थानों पर दबिश देते हुए 4 आरोपी गिरफ्तार कर लिए गये है। आरोपियों के कब्जा से अवैध .32 बोर पिस्टल व 315 बोर के कट्टा तथा 2 जिंदा कारतूस बरामद किए गये है, जिनसे पुछताछ दौरान आरोपियों की निशानदेही पर उनके मकान में लूटपाट करके छिपाई गई कुल 2 लाख 15 हजार रुपये नकदी बरामद कर ली गई। गिरफ्तार किया गया सरगना व उसका मुख्य साथी गत वर्ष शराब ठेकेदार के पास नौकरी करते थे, जिन्हें कैश कलैक्ट करने के समय, रुट व संभावित नकदी की समुचित जानकारी होने कारण उन्होनें लूटपाट की योजना बनाई। 

वारदात में प्रयुक्त स्कूटी व स्वीफ्ट वीडीआई गाड़ी पहले ही बरामद कर कब्जा पुलिस में ली जा चुकी है। पुलिस कब्जा में ली गई स्कूटी गिरोह के सरगना व उसके साथी द्वारा 13 जनवरी को ब्रह्मसरोवर कुरुक्षेत्र के पास से पिस्तौल की नोक पर छीनी गई थी। इसी स्कूटी की मार्फत आरोपियों द्वारा शराब ठेकेदार कैश वैन चालक की हत्या कर नकदी लूटने के अतिरिक्त 18 जनवरी को कलायत में करीयाना व्यापारी से पिस्तौल की नोक पर जबरन बैग छीनने की वारदात को अंजाम देना भी आरोपियों द्वारा कबूला गया है। वारदात में लिप्त पांचवे आरोपी की पुख्ता पहचान कर ली गई, जिसकी गिरफ्तारी सहित व्यापक पुछताछ के लिए चारों आरोपियों का 19 फरवरी को न्यायालय से पुलिस रिमांड हासिल किया जाएगा। 

सीआईए-टू परिसर में आयोजित प्रैस वार्ता दौरान पुलिस अधीक्षक आस्था मोदी ने जानकारी दी कि क्राइंम ब्रांच सैकिंड प्रभारी सबइस्पेक्टर सत्यवान की अगुवाई में टीम द्वारा जिला जींद के गांव चांदपुर बस अड्डा के नजदीक दबिश देते हुए आरोपी विक्रम उर्फ विक्का निवासी कुकरकंडा (थाना राजौंद) व रामभज निवासी करोड़ा (थाना पुंडरी) को काबु करते हुए भादसं. की धारा 302, 3920 397 व शस्त्र अधिनियम की धारा 25-54-59 अंतर्गत गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस द्वारा आरोपियों से तत्परता पुर्वक की गई गहन पुछताछ उपरांत मुस्तैदी का परिचय देते हुए जींद के नजदीक कैथल रोड पर स्थित एक ढ़ाबे पर दबिश देते हुए आरोपी कुलदीप उर्फ धौला व अमन उर्फ नमनी दोनो निवासी धर्मसिंह कलोनी नरवाना जिला जींद को गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी कुलदीप के कब्जा से 32 बोर का अवैध लोडिड पिस्टल व अमन के कब्जा से 315 बोर का अवैध लोडिड देशी कट्टा बरामद किया गया।

पुलिस अधीक्षक आस्था मोदी ने बताया कि नरवाना निवासी शराब ठेकेदार सुरेश लाला के कैथल शहर क्षेत्र में अंग्रेजी व देशी शराब के ठेके है। दिनांक 14 फरवरी की शाम फर्म के कैश इंचार्ज जसवंत ङ्क्षसह निवासी कालीरावण जिला हिसार, असन कुमार निवासी कुराड़, हुक्म चंद निवासी मांगना जिला कुरुक्षेत्र जखौली अड्डा से बैलेरो गाडी में सवार होकर चालक संदीप निवासी खरल हाल निवासी प्रताप कलोनी टोहाना जिला फतेहाबाद सहित करीब 8:30 बजे शाम शहर क्षेत्र के शराब ठेको से कैश एकत्र करने निकले। करीब 9:30 बजे जब वे खनौरी बाईपास स्थित शराब ठेका पर पहुंचे, जहां सेल्समैन सोनू कैश देकर वापिस जाने लगा, तो उसी समय एक सुजूकी मार्का स्कूटी पर 3 युवक आए जो कपडो से मुंह बांधे हुए थे। स्कूटी के पीछे बैठे युवको के हाथों में पिस्तौले थी, जिन्होनें कैश वैन पर गोली दाग दी, तो सभी ने झुककर जान बचाई। चालक संदीप एकदम खिडक़ी खोलकर ठेका की तरफ भागा, तो इसी मध्य लूटरों द्वारा चलाई गई दूसरी गोली चालक को लगी, जो गोली लगने कारण शराब ठेका गेट के अंदर की तरफ गिर गया। इसी दौरान एक लूटेरे द्वारा कैशियर जसंवत की साईड की खिडकी का शीशा तोडकर कैशबैग लूटकर उसी स्कूटी पर खनौरी बाईपास की तरफ भागने लगे, जिनका पीछा किया जाने पर करीब आधा किलोमीटर आगे स्कूटी छोडकर, पहले से खडी स्वीफ्ट गाडी में तीनो लूटेरे सवार होकर भागे तथा कुछ दूरी पर गाडी छोडकर खेतों के रास्ते फरार हो गए। घायल संदीप को उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया तो डाक्टरों द्वारा उसे मृत घोषित किया गया। जसवंत के ब्यान पर थाना शहर में अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था।

कुलदीप व विक्रम उर्फ विक्का कर चुके है, ठेकेदार के पास नौकरी

 एसपी ने बताया कि गिरफ्तार किए गये आरोपी कुलदीप उर्फ धौला व विक्रम उर्फ विक्का सुरेश लाला के पास वर्ष 2016-17 दौरान कारिंदे की नौकरी कर चुके है, जिन्हे कैश कलैक्ट करने के समय, रुट व संभावित नकदी की समुचित जानकारी होने कारण उन्होनें लूटपाट की योजना बनाई। वारदात उपरांत स्वीफ्ट गाडी में आरोपियों को ले जाने के इंतजार आरोपी विक्का उर्फ विक्रम व रामभज ही आरोपी रामभज की गाडी पर जाली नं. प्लेट लगाकर योजना अनुसार खडे थे, जहां स्कूटी छोडकर वारदात को अंजाम देने वाले तीनों आरोपियों को गाडी में सवार होना था। 

रोहतक किराए कमरा में कुलदीप द्वारा योजना दौरान यूपी निवासी विक्की को किया गिरोह में शामिल 

आरोपी कुलदीप व अमन उर्फ नमनी रोहतक किराए के कमरा में रहते थे, जहां उन्होंने गांव सबगा जिला बागपत युपी निवासी विक्रम उर्फ विक्की को बुलाकर लूट की योजना में शामिल किया तथा वारदात को अमल में लाने के लिए 14 फरवरी की शाम सभी योजना अनुसार हनुमान वाटिका में एकत्र हुए।

लूटपाट व हत्या की वारदात के सयम आरोपी कुलदीप उर्फ धौला, अमन उर्फ नमनी व विक्रम उर्फ विक्की थे स्कूटी पर :- हत्या व कैश लूट दौरान स्कूटी पर आरोपी कुलदीप उर्फ धौला व अमन उर्फ नमनी निवासी नरवाना तथा विक्रम उर्फ विक्की निवासी सबगा युपी सवार थे, जो तीनों अवैध हथियारों से लैस थे। घटनास्थल पर फायर दौरान आरोपी कुलदीप द्वारा चलाई गई गोली कैश वैन चालक संदीप को लगी, जिस कारण उसकी मौका पर मौत हो गई। वारदात के समय तीनों आरोपियों द्वारा एक-एक फायर किया गया था।

पिस्तौल की नोक पर कुरुक्षेत्र से छीनी गई स्कूटी से दिया गया वारदात को अंजाम

आरोपी कुलदीप व अमन उर्फ नमनी द्वारा 13 जनवरी को ब्रह्मसरोवर कुरुक्षेत्र के पास से  चक्रवर्ती महौल्ला कुरुक्षेत्र में किराए पर रहे गोपालपुर जिला अमेठी निवासी अनुराग से पिस्तौल की नोक पर छीनी गई थी उसकी स्कूटी जिस बारे अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ कुरुक्षेत्र में मामला दर्ज है। अनुराग किराए के कमरा से पीएचसी किरमिच में चल रही उसकी फार्मेसी की ट्रेनिग हेतू स्कूटी पर सवार होकर जा रहा था, जिससे अर्जुन घाट के पास पिस्तौल की नोक पर सुबह करीब 9:30 बजे स्कूटी छीनी गई थी। जिसके पांचवे दिन इसी स्कूटी पर सवार उपरोक्त दोनों आरोपियों द्वारा कलायत में 18 जनवरी को करीब 3 बजे राजेश कुमार निवासी कलायत मंडी से पिस्तौल की नोक पर दोनों आरोपी बैग छीनकर फरार हो गए। गनीमत रही की करियाने का धंधा करने वाला व्यापारी कैश जमा करवा कर बैंक से लौट रहा था।

लूटी गई 2 लाख 15 हजार रुपये नकदी बरामद

चारों आरोपियों से पुछताछ दौरान आरोपी कुलदीप के मकान से 500-500 के करंसी युवक्त एक लाख रुपये नकदी, अमन के घर से सौ-सौ रुपये करंसी की 20 हजार रुपये नकदी, विक्रम के घर से सौ-सौ की करसी के 15 हजार रुपये तथा आरोपी रामभज के घर से 500-500 की करंसी में 80  हजार रुपये सहित चारो आरोपियों के कब्जा से सीआईए-टू पुलिस द्वारा कुल 2 लाख 15 हजार रुपये नकदी बरामद कर ली गई है। वारदात में लिप्त पांचवे आरोपी की पुख्ता पहचान कर ली गई, जिसकी गिरफ्तारी सहित व्यापक पुछताछ के लिए चारों आरोपियों का 19 फरवरी को न्यायालय से पुलिस रिमांड हासिल किया जाएगा। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.