‘जनसेना’ के स्थापना दिवस पर तेलुगु के मेगास्टार पवन कल्याण ने मनाया जश्न

0
150

– खुलासच डेस्क

आंध्र प्रदेश : चार साल पहले, 14 मार्च 2014, तेलुगु फिल्म इंडस्ट्री के सबसे बड़े मेगास्टार पवन कल्याण अपने राजनीतिक दल ‘जनसेना’ का गठन किया था। आंध्र प्रदेश में पार्टी के चौथे वर्षगांठ का जश्न मनाया गया। एक नेता के रूप में, पवन कल्याण ने एक भी सीट के लिए चुनाव लड़ें बिना 2014 के चुनावों में आम जनता को प्रभावित किया और जनमत से अंतिम आदेश के परिणाम तय करने में महत्वपूर्ण भूमिका भी निभाई थी।

जनसेना पार्टी की स्थापना पवन कल्याण ने न्याय के सिद्धांतों और निष्पक्षता के आधार पर की थी। इस महान भूमि के ज्ञान और परंपराओं की पुरानी भारतीय लोकाचार और अखंड श्रृंखला को बनाये रखेते हुए, पार्टी आंध्र प्रदेश और तेलंगाना राज्यों में सक्रिय है।

एक साधारण निम्न मध्यम वर्ग के परिवार में जन्मे पवन कल्याण एक सुंदर, करिश्माई व्यक्तिव का प्रतिनिधित्व करते हैं और राजनीतिक नेतृत्व से जुड़े रूढ़िवादी विषयों को पार करने की नैतिक क्षमता रखते हैं। उनके सामान्य भारतीय के साथ शक्तिशाली संबंध, सभी उम्र के बढ़ते अनुयायी, और उनके साथ सभी अनुयायियों, दोस्तों और सहकर्मियों से उनकी रोजमर्रा की बातचीत, उनकी शिक्षा जो उन्हें उच्चतम विद्वानों, उनकी नम्रता और सार्वजनिक नैतिकता के प्रति असाधारण प्रतिबद्धता निर्माण से एक महान नेता की विशेषताएं झलकती हैं।

उनकी राजनीतिक यात्रा पर बोलते हुए श्री कल्याण जी ने कहा ‘मैं एक भारतीय हूं और भारतीय रहूँगा, मेरा देश मुझे सेवा करने के लिए कहेगा और मैं सेवा करूँगा देश को प्रतिबद्ध व्यक्तियों की आवश्यकता हैं। दूसरों को कहने के बजाय खुद आगे आना चाहिए, मैंने इस रास्ते पर चलने का फैसला किया हैं मेरी यह राजनीतिक यात्रा एक आजीवन यात्रा हैं। मैंने राजनीतिक अवसर प्राप्त करने के लिए राजनीति में प्रवेश नहीं किया बल्की समाज की सेवा करने और जनता के हितों की रक्षा करने के लिए किया हैं। मैं लोगों के लिए हूँ लोगों से और लोगों के द्वारा हूँ’।

जनसेना के सिद्धांत और आदर्श

♦ जातिआधार के बिना सामाजिक चेतना

♦ धार्मिक भेदभाव के बिना राजनीति

♦ भाषाई मतभेदों का सम्मान

♦ हमारी परंपराओं और संस्कृति का संरक्षण

♦ राष्ट्रीयता जो क्षेत्रीय विविधता की उपेक्षा नहीं करता हैं

♦ यह हमारे देश की ताकत की जड़ हैं

यह जनसेना के आदर्श हैं ।

पार्टी के उद्देश्य और मिशन

आंध्र प्रदेश में वर्तमान राजनीतिक परिस्थिति में, जनसेना, पवन कल्याण के नेतृत्व में आंध्र प्रदेश के लिए विशेष दर्जे की मांग दिलवाने के लिए लड़ना चाहती हैं। एक स्थिर उद्देश्य के रूप में राजनीतिक दृढ़ता प्राप्त करने के लिए, श्री कल्याण जी नैतिक राजनीति को केंद्र में वापस लाना चाहते हैं। वह आवाज-हीन और दमन किये गए लोगों को आवाज देने के लिए काम करना चाहते हैं । वह जनसेना के सिद्धांत को अवतीर्ण करना चाहते हैं और विशाल जनसंख्या जो उनके पक्ष को समझने और  सिद्धांतों को अपनाने के लिए अनुसरण करें और हमारे पीछे उन भेदभावपूर्ण और विभाजनकारी राजनीति को दफन करते हैं जो समाज में तनाव और अस्थिरता फैलाते हैं । वह राजनीति में नए युवकों का भाग लेना चाहते हैं, जिससे कि युवाओं में भेदभाव न रहे और हमारे राजनीति के दूषित सिस्टम और लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं को आगे बढ़ाएं इस पर बात करते हुए श्री कल्याण कहते हैं, ‘आंध्र प्रदेश अपने प्रतिनिधियों की गलतियों और उनकी शक्तियों की वजह से जूझ रहा है। हमारा उद्देश्य इसे सही करना हैं, लोगों को प्राथमिकता देंना हैं, शक्ति नहीं’।

आगे का दृष्टिकोण

पवन कल्याण एक आम वजह के लिए लोगों को एकजुट करना चाहता हैं । जब विकास, समाज का कल्याण, सिद्धांत और राजनीतिक नैतिकता सभी पिछली सीट पर चले गएँ हैं, वह समाज का ध्यान वापस नैतिकता और समूह के बीच भेदभाव के बिना लोगों को लाभान्वित करने के लिए सुधारवादी राजनीति लाना चाहते हैं । वह लोगों को प्रोत्साहित करना चाहते हैं, उदाहरण के लिए, सैद्धांतिक राजनीति के लिए दृढ़ खड़े होने के लिए, जो उचित और सुधारवादी हो।

जैसा कि श्री कल्याण कहते हैं, ‘जनसेना सत्ता के उद्देश्य के लिए नहीं है, बल्की राजनीतिक दलों और नेताओं से सवाल करने के लिए हैं । जनसेना का उद्देश्य राजनीतिक सत्ता के साथ या उसके बिना अच्छा काम करना है’।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.