मां की पेंशन मिलती रहे इसके लिए रचा ऐसा खेल जानकर आप भी हो जाएगे हैरान

0
242

पैसे के लिए मां के शव को 3 साल तक फ्रिज में रखा

– खुलासच डेस्क

कोलकाता : कोलकाता में एक हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है, जिससे इतना तो समझा जा सकताहै कि आजकर पैसों के सामने रिश्तों की कोई अहमितय नहीं रह गई है। दरअसल, कोलकाता में एक शख़्स ने तीन साल से अपनी मां के शव को फ्रीज़र में छुपाकर रखा था ताकि वो उनकी पेंशन हासिल करने के लिए उनके अंगूठे के निशान ले सके। हैरानी की बात ये है कि यह सिलसिला करीब 3 साल से चल रहा था। पुलिस ने मृतक महिला के बेटे और पति को उसका शव 3 साल तक फ्रिज में रखने के आरोप में गुरूवार को गिरफ्तार कर लिया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक सुभ्रतो ने कथित रूप से अपनी मां बीना मजूमदार (87 वर्षीय) का शव 3 साल से डीप फ्रीजर में रखा हुआ था। बताया जा रहा है कि इसकी जानकारी उसके पिता गोपाल चंद दास (90 वर्षीय) को भी थी। मृतक बीना का बेटा सुभ्रतो नियमित रूप से अपनी मां के नाम पर आने वाली पेंशन को एटीएम से निकाला करता था।

अंतिम संस्कार के लिए शव को घर ले गया और रासायनिक लेप लगाकर डीप फ्रीजर में रख दिया

सुभ्रतो के ऊपर आईपीसी की धारा 176 और 269 के तहत मामला दर्ज किया गया है। इसे शुक्रवार को अदालत में पेश किया जाएगा। जानकारी के मुताबिक मृतक महिला रिटायर्ड एफसीआई अधिकारी थीं, जिन्हें हर महीना 50,000 रुपए पेंशन मिलती थी। साल 2015 में उनकी हृदयघात के कारण मृत्यु हो गई थी। इसके बाद सुब्रतो अंतिम संस्कार के लिए शव को घर ले गया और रासायनिक लेप लगाकर डीप फ्रीजर में रख दिया। बीना के शरीर के जिन हिस्सों के सड़ने का डर था उन हिस्सों जैसे किडनी, लीवर इत्यादि को शरीर से अलग करके सुब्रत ने बड़े जार में रख दिया था। पुलिस ने वृद्धा के शव के अलावा कुछ बड़े जार भी कब्जे में लिए हैं।

जाने कैसे हुआ पर्दाफाश

इस अपराध का पर्दाफाश फ्रिज मैकेनिक के जरिए खुला। जिस फ्रिज में सुब्रतो ने मां का शव रखा था, उसका कम्प्रेशर खराब हो गया था। मरम्मत के लिए उसने मैकेनिक को घर बुलाया था। मैकेनिक को फ्रिज से शव की दुर्गंध मिली थी। उसके जरिए मुहल्ले के लोगों फिर पुलिस तथा मीडिया को खबर मिली।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.