कुछ मिनट में पत्थर बन गये इस शहर के 20 हजार लोग, जाने क्या था कारण !

0
235

– खुलासच डेस्क

दिल्ली : आज इंसान चाँद पर पहुंच गया है। टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में इंसान ने कई आविष्कार भी कर लिए है। लेकिन प्रकृति के आगे आज भी इंसान की एक नहीं चलती है। जब भी प्रकृति विनास का रूप धारण करती है तो इंसान के सारे प्रयोग फेल हो जाते है। सालों पहले एक ऐसी ही घटना घटी थी, जिसने देखते ही देखते एक शहर में 20 हजार लोगों को चंद मिनटों में मौत की नींद सुला दिया था। इटली के एक शहर में घटी इस घटना को याद कर लोग आज भी सिहर उठते हैं।

ये घटना 79 ई. की है, जब पॉम्पी इटली और रोमन साम्राज्य का प्रसिद्ध व समृद्ध शहर था। ये शहर पूरे रोम का सबसे शानदार और प्रसिद्ध पर्यटन स्थल भी था, लेकिन इस शहर की त्रासदी दिल दहला देने वाली है। इस शहर को पल भर में ज्वालामुखी ने निगल लिया था। 79 ई. का यह रोमन शहर ज्वालामुखी और माउंट वेसुवियस के फटने से नष्ट हो गया था।

ज्वालामुखी फटने के कारण यहां के लोग 13 से 20 फीट नीचे दब गये। जब यह शहर पूरी तरह से नेस्तनाबूत हुआ था, तब इसकी आबादी लगभग 20 हज़ार थी। ऐसा माना जाता है कि शहर की पूरी आबादी की मौत ज्वालामुखी की राख और चट्टानों के नीचे दबने से हुई थी। इतना ही नहीं, इस ज्वालामुखी ने इंसानों को फ्रीज़ कर पत्थर सा बना दिया था।

एक रिपोर्ट के मुताबिक, ज्वालामुखी फटते वक्त शहर का तापमान 250 डिग्री सेल्सियस (482 ° F) था, जो किसी इंसान को खत्म करने के लिए काफी था। ज्वालामुखी के कारण ऐसा विनाशकारी तापमान लगभग 10 किलोमीटर तक फैल गया था। ऐसा माना जाता है कि इस गर्मी से मरने के बाद ही ज्वालामुखी के लावा के कारण वे पत्थर के समान हो गये थे। इस शहर की खुदाई के बाद से लगातार पत्थर बन चुके शव बाहर आ रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.