राजधानी में बढ़ती गर्मी के चलते पानी की किल्लत को लेकर बढ़ रहे औरतों में झगड़े !

0
187

रिपोर्ट : अनीता गुलेरिया

दिल्ली : बढ़ती गर्मी से पानी की किल्लत के चलते दक्षिण दिल्ली के संगम विहार के एल-के, ब्लॉक की गली नंबर 3 में गर्मी के इस सीजन में लोगों ने जैसे-तैसे करके ग्रेटर कैलाश जल-बोर्ड आफिस से पानी का टैंकर लगवाया। पानी का टैंकर गली में पहुंचा तो टैंकर से पानी भरने के दौरान दो महिलाओं का झगड़ा आपस में इस कदर बढ़ गया, की नौबत गाली-गलौच के बाद मारपीट तक जा पहुंची। दोनों ने एक-दूसरे पर बर्तन फेंकने शुरू कर दिए। बीच-बचाव करने में जुटी एक अधेड़-उम्र की महिला सुमन कंवर के गंभीर चोट लगने से उसके सिर में कई टाँके लगे हैं।

सुमन ने मीडिया से बताया, जिस दिन यह हादसा हुआ मैं टैंकर में बैठकर ही आई थी। ड्राइवर पानी का टैंकर लेकर जाने को तैयार नहीं था और 500 टैंकर मांग रहा था। उसने सरेआम कहा आप अगर 500 देते हो, तो ठीक है नहीं तो, मैं दूसरी जगह जा रहा हूं। सुमन के अनुसार उसने ड्राइवर को 400 में बड़ी मुश्किल से मनाया, तब वह पानी का टैंकर लेकर आया। लेकिन पानी के झगड़े में मारपीट के चलते वह बिना रिश्वत लिए और बिना पानी दिए ही वहां से चला गया। कॉलोनी के स्थानीय निवासियों ने पानी की किल्लत पर भारी रोष-व्यक्त करते हुए बहुत सहा अब और नहीं!

बिजली-पानी फ्री का दम-भरती इस दिल्ली सरकार के टैंकर को पैसे दिए बिना यहां पानी मिलता ही नहीं है। अपने इलाके में पानी की गंभीर समस्या को जाहिर करते हुए कहा, सरकारी पानी ना मिलने के कारण लोगों को मजबूरी में दो हजार लीटर का टैंकर ढाई से तीन हजार रुपए में मंगवाना पड़ता है, पीने के पानी की बोतल 30 से 80 तक लेनी पड़ती है। कई महीनों से पानी की समस्या पर भड़के लोगों के अनुसार यदि हमारी पानी की इस मांग को जल्दी हल ना किया गया तो वह एक बहुत बड़ा धरना प्रदर्शन करके याद दिलाएंगे।

बिजली-पानी फ्री का दम भरने वाले सरकार हम लोगों को फ्री पानी ना देते हुए टैंकर-माफियाओं के साथ सांठ-गांठ करके उनको फायदा पहुंचाने में लगी रही और केजरीवाल बिजली और पानी के मुद्दों पर बड़े-बड़े नारे देते फिरते थे। बिजली पानी आपकी, नहीं किसी के बाप की, नारे से दिल्ली की जनता को खूब भरमाया। आज यही जनता अपने को ठगा हुआ महसूस कर रही है। यही केजरीवाल जब दूसरी सरकारों पर सवाल उठाते फिरते थे।

यदि कोई गरीब है, उसके पास पैसा नहीं है, तो क्या वह पानी नहीं पिएगा, पानी तो पिएगा साहब, प्यासा तो नहीं मरेगा ना …..? अब हम जनता उन्हीं के इस सवाल को उनसे ही दोहराते हैं, जब यह सवाल उनका है तो उनसे बेहतर जवाब हमें और कौन देगा……? स्थानीय निवासियों द्वारा दिल्ली सरकार से किया गया एक बड़ा सवाल हमें नहीं पता था कि यह भी औरों की तरह सिर्फ गाना ही गाएगा । दिल्ली की जनता के दिल में जो आग लगाई , अब यह तो बता दे किस पानी से बुझाएगा । दिल्ली के विधायक पूरी तरह चुनाव प्रक्रिया मे है मस्त  और दिल्ली की जनता पानी के बिना है त्रस्त।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.