मुख्यमंत्री समग्र ग्राम रामपुर में लगी प्रमुख सचिव की चौपाल

0
36
  • पहले किया कस्तूरबा आवासीय बालिका विद्यालय व तहसील का निरीक्षण

मीरजापुर : सोमवार को मड़िहान क्षेत्र के देवरी गांव स्थित कस्तूरवा आवासीय बालिका विद्यालय परिसर में प्रमुख सचिव महेश कुमार गुप्ता ने निर्माणाधीन हास्टल का निरीक्षण किया। ठेकेदार द्वारा घटिया सामग्री का प्रयोग किये जाने से नाराज प्रमुख सचिव ने निरीक्षण के लिए सेम्पलिंग में दश ईंट अपने बाहन में रखवा लिया। आधे घंटे में विद्यालय की प्रभारी प्रधानाध्यापिका से शिक्षा की गुणवत्ता व व्यवस्था के बारे में कई सवाल दागे।

तहसील के एसडीएम चेम्बर में न्यायालय सम्बन्धी, आरके आफिस, रिकार्ड रूम के अभिलेखों की गहन मुआयना किया। दो घंटे में सबसे पहले तहसीलदार न्यायालय से सम्बंधित भूराजस्व, राजस्व संघीता, 122बी, लंबित मामलों का गहन निरीक्षण किया। आरके दफ्तर व नाजिर आफिस से सम्बंधित रजिस्टर नम्बर चार समेत कई फाइलों को खंगाला। तहसील की एक सौ नब्बे वर्ग मीटर जमीन पर अतिक्रमण न हटाये जाने पर तहसील अधिकारियों से नाराज दिखे।

तहसील से निकलते समय अन्तिम रिकार्ड रुम खोलवाने के लिए अधिकारी द्वय हीलाहवाली करते रहे। हांलाकि रिकार्ड रूम का दरवाजा खुलते ही कबूतर के बीट से पटा बदबू आने पर मुख्य विकास अधिकारी प्रियंका निरंजन दूर जाकर खड़ी हुयी। अधिकारी हाल ही में मड़िहान तहसील आने की दुहायी देते रहे और किसी भी बयानबाजी से बचते रहे।

पटेहरा ब्लाक के रामपुर मुख्यमंत्री समग्र ग्राम के प्राथमिक विद्यालय में चार बजे से छह बजे तक ग्रामीणों के बीच चौपाल के दो घंटे में सरकार द्वारा चलायी जा रही विकास कार्यों का भौतिक सत्यापन किया। जिसमें आवास, शौचालय, राशन, पेंशन, पेयजल, सोलर लाईट, चकरोड, चकमार्ग, तालाब आदि का भौतिक सत्यापन किया। ग्रामीणों की समस्या का समाधान करने का आश्वासन दिया गया।लगभग दो दर्जन फरियादियों ने प्रार्थना पत्र भी दिया। प्रमुख सचिव व जिलाधिकारी ने विद्यालय परिसर में सागौन व आवंला का पौधरोपण किया।

 

इस दौरान जिलाधिकारी, सीडीओ, समाज कल्याण अधिकारी मड़िहान एसडीएम अतुल प्रकाश श्रीवास्तव, तहसीलदार सुरेन्द्र बहादुर सिंह, सीओ ऑपरेशन केपी सिंह, थानाध्यक्ष विजयशंकर पटेल, चौकी इंचार्ज पटेहरा उमाशंकर गिरी आदि समस्त बिभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.