लगातार चलेगा एंटीरोमियो का अभियान, छात्राओं को किया गया जागरूक

0
29
  • बच्चो को अपराध व अपराधियो से बचने व कानुन व यातायात नियमो के पालन करने की जानकारी दी गयी

  • एंटी रोमीयो संदिग्ध वाहनो की सघन चेकिंग

रिपोर्ट : ब्रिजेश कुमार

मिर्जापुर : पुलिस उप महानिरीक्षक विन्ध्याचल परिक्षेत्र व पुलिस अधीक्षक आशीष तिवारी के कुशल निर्देशन में जनपद में अपराध नियन्त्रण एवं अपराधियों की धरपकड़ हेतु चलाये जा रहे अभियान के अतिरिक्त स्कूल मे जाकर स्कूली बच्चों को यातायात व सड़क सुरक्षा तथा आत्मरक्षा के उपायों की जानकारी देकर उन्हें जागरूक बनाने का कार्य भी पुलिस द्वारा समय-समय पर किया जा रहा है। इसी क्रम में 25 अगस्त को प्रभारी निरीक्षक महिला थाना सीमा सिंह द्वारा एसएन पब्लिक स्कूल व काशीराम बालिका विद्यालय, आर्य कन्या इंटर कॉलेज में छात्र-छात्राओं को महिला सशक्तिकरण के विषय में जागरुक किया गया। उक्त कार्यक्रम में प्रभारी निरीक्षक महिला थाना द्वारा नैतिकता, सामाजिक, समरसता, यातायात के नियमो का पाठ पढ़ाया गया व साथ ही महिला सशक्तिकरण के विषय में अवगत कराया गया। साथ ही बच्चों को उनकी सुरक्षा, स्वास्थ्य एवं भावी जीवन में उपयोगी उपाय भी बतायी गयी।

छात्रों की क्लास लेते हुये पुलिस अधिकारीगण ने पुलिस एवं पुलिस के सहयोगी अन्य संगठनों द्वारा आम जन के सुरक्षार्थ एवं सहयोगार्थ किये जाने वाले विभिन्न प्रकार के जोखिमयुक्त कार्यों के बारें में बताया। रोड एक्सीडेन्ट से बचाव हेतु हेलमेट के उपयोग और यातायात नियमों के पालन पर बल दिया। इसके साथ ही किसी घटना के बारे में पुलिस को सूचना दिये जाने के सम्बन्ध में निर्गत उ0प्र0पुलिस के इमरजेंसी नम्बर 100 (डायल 100), आग लगने की सूचना देने हेतु फायर सर्विस का इमरजेंसी नम्बर 101, महिलाओं व किशोरियों की सुरक्षा हेतु निर्गत 1090 नम्बर, बच्चों व बच्चियों की सहायता एवं वेलफेयर हेतु निर्गत 1098 नम्बर, किसी प्रकार दुर्घटना में घायलों व गम्भीर रूप से बीमार व्यक्तियों की सहायता हेतु निर्गत 108 नम्बर, घरेलू हिंसा की घटना होने पर महिलाओं की सुरक्षा हेतु निर्गत 181 नम्बर पर काल करने के सम्बन्ध में जानकारी दी गयी तथा किसी प्रकार की आकस्मिक घटना के होने पर अथवा किसी पीड़ित की सहायता हेतु इन नम्बरों की उपयोगिता के बारे में भी बताया गया। साथ ही घायलों एवं जरूरतमन्दों की यथासम्भव सहायता करने हेतु बताया गया, घायलों की मदद करने वालों से पुलिस किसी प्रकार का पूछताछ नहीं करती है, इसलिये बिना डरे घायलों की सहायता करें।

बच्चों को बताया गया कि किस प्रकार से छोटी-छोटी बातों को अपनाने से हम अपनी खराब आदतों को अच्छी आदतों में बदल सकते हैं व अपने जीवन में सफल हो सकते हैं। उक्त अवसर पर बच्चों ने पुलिस अधिकारियों से खुल कर सवाल किये जिसका पुलिस अधिकारीगण द्वारा उचित उत्तर दिया गया। साथ ही पुलिस अधिकारीगण द्वारा भी बच्चों को दी गयी जानकारियों के सम्बन्ध में सवाल-जवाब किया गया।

कार्यक्रम के अन्त में प्रभारी निरीक्षक महिला थाना  ने छात्रों से कहा कि पुलिस द्वारा किया जाने वाला कार्य काफी चुनौतीपूर्ण है, जो आपकी सुरक्षा एवं सहायता से सम्बन्धित होता है, इसलिए पुलिस के कार्यों में सहयोग प्रदान करते हुये अपराध एवं अपराधियों रोकथाम हेतु पुलिस द्वारा किये जा रहे प्रयासों को सफल बनायें, पुलिस आपकी मदद के लिये है अतः किसी भी प्रकार की समस्या व शिकायत अथवा अपराध या अपराधी के सम्बन्ध में जानकारी होने पर तत्काल अपने थाने या सम्बन्धित अधिकारीगण को अवश्य अवगत करायें व किसी अपराध अथवा अपराधी की जान यातायात नियमों का पालन अपनी सुरक्षा हेतु अवश्य करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.