प्रतिभा सिंटेक्स के तत्वाधान में नेचुरोपैथी सेमिनार का किया गया आयोजन

0
54

इंदौर : जब भी कोई नई विधा आती है तो पुरानी विधा स्वभाविक तौर पर लोग भूलने लगते हैं। हमारी प्राचीन प्राकृतिक चिकित्सा पद्धति के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ हैं। एलोपैथी के आते ही लोग नेचुरोपैथी से दूर हो गए हैं, जबकि प्रकृति के पास हमारी तमाम तरह के बीमारियों का उपचार मौजूद हैं। नेचुरोपैथी, उपचार की एक ऐसी प्रणाली है जो शरीर के भीतर महत्वपूर्ण उपचारात्मक शक्ति के अस्तित्व को मजबूती प्रदान करती है। यह रोग ठीक करने के लिए मानव शरीर से अवांछित और अप्रयुक्त तत्वों को बाहर निकालकर विषाक्त पदार्थों के निर्माण को रोकते हुए मानव शरीर को स्वास्थ्य रखने में सहायता प्रदान करती है।

ताली बजाना, उपवास करना ये सब हमारे पूर्वजों द्वारा हमें नेचुरोपैथी की तरह ले जाने का एक साधन था। भजन संध्या के दौरान ताली बजाना, सही मायनों में हमारे एक्यूप्रेशर पॉइंट को दबाना होता था। उपवास करना हमारे शरीर की साफ़ सफाई का एक तरीका होता था। आज की युवा पीढ़ी को नेचुरोपैथी से जोड़ने के लिए प्रतिभा सिंटेक्स लिमिटेड ने अपने परिसर में नेचुरोपैथी के लिए प्रसिद्द विकल्प सोशल एंड चैरिटबल ट्रस्ट के साथ मिलकर नेचुरोपैथी व स्ट्रेस मैनेजमेंट के एक सेशन का आयोजन किया। इस दौरान नेचुरोपैथी एक्सपर्ट आंचल तिवारी ने अपना व्याख्यान देते हुए डाइबटीज, डाइजेशन और गेस्ट्रिक जैसी बीमारियों से बचाव व रोकथाम के बारे में समझाया जबकि योगा एक्सपर्ट स्नेहदीप डोंगरे ने विभिन्न योगासनों को करते हुए लोगों को इसके महत्व के बारे में बताया।

प्रतिभा सिंटेक्स के वीपी एचआर एच. एस. झा ने बताया कि,“हमारे द्वारा चलाये गए इस नेचुरोपैथी सेशन का मुख्य उद्देश्य कंपनी के इम्प्लॉएंस को नेचुरोपैथी के प्रति जागरूक करना व स्ट्रेस मैनेजमेंट के गुणों से अवगत करना था। इस नेचुरोपैथी व स्ट्रेस मैनेजमेंट सेशन के माध्यम से करीब 400 से अधिक लोगों ने लाभ उठाया।“

विकल्प चैरिटेबल ट्रस्ट के अनुसार, “पिछले कई सालों से विभिन्न प्रतिष्ठित संस्थानों द्वारा हमारे काम की सराहना का मुख्य कारण यह है कि हम अपने ट्रैनिंग प्रोग्राम्स में पार्टिसिपेंट्स को नेचुरल रेमेडीज, योग और एक्ससरसाइज की ट्रैनिंग देते हैं ताकि वह अपनी बिजी और हैक्टिक लाइफस्टाइल में भी इसके लिए थोड़ा समय निकाल लें और प्रभावशाली तरीके से अपनी परेशानियों और बीमारियों का सामना कर सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.