भारत में भी मोमो चैलेंज का कहर

0
43

दिल्ली : जनलेवा ब्लूव्हेल गेम के बाद इन दिनों सोशल मीडिया पर एक और सुसाइड गेम ‘मोमो चैलेंज‘ वायरल हो रहा है । न्यूज़18 इंडिया की एक खास रिपोर्ट के मुताबिक दुनियाभर के कई देशों में मासूम बच्चों की जान लेने वाला मोबाइल गेम मोमो भारत में दस्तक दे चुका है। इस ऑनलाइन गेम की वजह से अजमेर की एक लड़की खुदकुशी कर चुकी है।

इस खेल की वजह से विदेशों में कई मासूम अपनी जान गंवा चुके हैं। इस गेम का खाने वाले मोमो से कोई लेना-देना नहीं है ये सिर्फ ऑनलाइन खेले जाने वाला एक गेम है जिसमें मोमो बच्चों को गेम में शामिल होने के लिए उकसाता है, और फिर उसकी हालत ऐसी कर देता है कि बच्चा खुदकुशी के लिए मजबूर हो जाता है।

इस ऑनलाइन गेम की वजह से पहली मौत अर्जेंटीना में हुई थी, जहां 12 साल की एक बच्ची ने आत्महत्या कर ली थी। इसके बाद दुनिया के कई देशों में मोमो चैलेंज का खौफ कायम हो गया।

भारत के अजमेर में अपने जन्मदिन पर केक काटकर घरवालों को खिला रही 15 साल की एक लड़की के दिलो दिमाग में क्या चल रहा था, इसकी भनक परिजनों को भी नहीं थी, लेकिन जन्म दिन के ठीक तीन दिन बाद उन्हें घर में फंदे से लटकता इसका शव मिला। उस लड़की ने खुदकुशी क्यों की, इस सवाल की पड़ताल शुरू होते ही घरवालों के सामने चैंकाने वाली चीजें आने लगीं। उस लड़की के हाथ में कलाई की नस के पास काटे जाने के निशान मिले जिसे देखने से लगता था कि कट उसने खुद बनाए थे। जब परिजनों ने उसके मोबाइल फोन को खंगाला तो तस्वीर बिल्कुल साफ हो गई। उनकी बेटी जानलेवा मोमो चैलेंज का शिकार हो गई थी।

मोमो चैंलेंज की वजह से खुदकुशी की खबर मिलते ही पुलिस भी हरकत में आ गई, क्योंकि इस खौफनाक खेल से भारत में मौत का ये पहला मामला है। हालांकि राजस्थान पुलिस ने लड़की के सुसाइड नोट में परीक्षा में कम नम्बर आने की वजह से खुदकुशी की बात लिखे होने का भी दावा किया। लेकिन घरवालों का दावा है कि उसने अपने जन्मदिन पर ही जान देने की तैयारी कर ली थी, लेकिन किसी वजह से ऐसा नही हो पाया फिर तीन दिन बाद उसने फांसी लगाकर जान दे दी।

पश्चिम बंगाल के जलपाई गुड़ी में कविता नामकी एक लड़की ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है कि उसे मोमो नाम के एक कॉलर ने फोन करके मोमो चैंलेंज में हिस्सा लेने के लिए उकसाया था। लेकिन इससे पहले कि वो मोमो चैंलेंज के जाल में फंसती उसने अपने भाई को पूरी बात बता दी। इसके बाद भाई ने तुरंत उस अनजान नंबर को मोबाइल से डिलीट किया और पुलिस से संपर्क साधा।

कविता को जिस नंबर से मोमो चैंलेंज में हिस्सा लेने के लिए कॉल आई थी, वो अमेरिका के अलबामा का है. न्यूज़18 इंडिया ने जब इस मोबाइल नंबर को सर्च किया तो ये नंबर मोमो नाम से दिखने लगा, जिसकी लोकेशन अमेरिका दिख रही थी। हैरत की बात ये है कि कविता को इस नंबर से कॉल तब आया जब उसने गुस्से में आकर फेसबुक पर लिख दिया कि वो मरना चाहती है. इसके बाद मोमो कॉल करके उसे गेम खेलने के लिए मजबूर करने लगा।

ये खेल काफी कुछ वैसा ही है, जैसे कुछ वक्त पहले ब्ल्यूवेल गेम आया था लेकिन इस बार मोमो चैलेंज का खतरा ज्यादा बड़ा इसलिए है, क्योंकि ये वाट्सएप के जरिए तेजी से फैल रहा है।मोमो चैलेंज का सबसे ज्यादा कहर अमेरिका, अर्जेंटीना, फ्रांस, मेक्सि को और जर्मनी में दिख रहा है. इनके अलावा दुनिया के कई देशों में मोमो चैलेंज को लेकर दहशत है। अभिभावकों को चिंता है कि कहीं उनका बच्चा इस जान लेवा गेम के चंगुल में ना फंस जाए। जानकारों के मुताबिक अगर मां-बाप अपने बच्चों पर नजर रखें तो उन्हें मोमो चैलेंज जैसे चक्रव्यूह में फंसने से रोक सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.